आपको यदि नए जॉब का ऑफर मिला है। मैनेजर आपको फोन पर ही संक्षिप्त में वेतन और अन्य फायदों के बारे में जानकारी बताता  है।

दरअसल यही वह समय होता है जब आपको उनके सामने अपनी मुख्य बात रखनी चाहिए। कई बार देखा गया है की अति-उत्साह के चलते लोग वेतन की बात ही नहीं करते हैं। ऐसा इसलिए होता है

क्योकि वो उस समय बातचीत के लिए पूरी तरह तैयार नहीं होते हैं। यदि आप नए जॉब ऑफर को निगोशिएट करना चाहते हैं तो इन बातों को पूरी ध्यान में रखते हुए आगे बढ़ें

वेतन के अलावा भी बहुत-सी बातें भी होती हैं करने के लिए। जैसे की जॉइनिंग की तारीख तय करना, रिटायरमेंट पर होने वाले पर उनके फायदों के बारे में जानकारी लेना,

(1) वेतन को बातचीत का आधार न बनाएं

फ्लेग्जिबल ऑफर्स के बारे में पूछना, वर्क फ्रॉम होम के बारे में पता करना, परफॉर्मेंस बोनस के बारे में जानना, स्टॉक ऑप्शंस और ऑन-साइट चाइल्ड केयर के बारे में भी मालूम किया जा सकता है।

बातचीत शुरू करने से पहले नियोक्ता के बारे में भी जानकारी होनी चाहिए। जिस पद के लिए आपने आवेदन किया है,

(2) सबसे पहले जानकारी हासिल कर लें

उस पर अधिकतम वेतन कितना हो सकता है यह जानकारी इंटरनेट पर कुछ वेबसाइट्स पर मिल जाती है। आपके प्रोफेशनल दायरे में जो लोग हैं,

उनसे भी पूछ सकते हैं कि यहां किन बातों का ध्यान रखना चाहिए। जितनी ज्यादा जानकारी होगी, उतना आत्मविश्वास बातचीत में महसूस करेंगे।

आपके दिमाग में कुछ बातों का स्पष्ट होना बेहद जरूरी है। जैसे कि आपको यह पता होना चाहिए कि वो क्या चीजें हैं जिनके साथ आप समझौता कर सकते हैं

(3) समझौतों के बारे में भी विचार कर लें

और कौन-सी ऐसी चीजें हैं जिनके साथ आप बिल्कुल भी समझौता नहीं कर सकते बातचीत करने से पहले ये तय करके रखें। किसी भी तरह के निगोसिएशन से पहले आपको यह पता होना चाहिए कि वाकई ये काम आपके लिए उचित है या नहीं

(4) खुली सोच रखें, माइंडसेट ना बनाएं बातचीत के दौरान हो सकता है आपके दिमाग में यह चल रहा हो कि या तो सब या कुछ नहीं।

इसके बजाय बातचीत के दौरान आपको यदि कोई रोड़े नजर आएं तो उन्हें हटाने की कोशिश करें, जिससे कि मैनेजर के लिए चीजों को आगे बढ़ाना आसान हो।