पाठ-5 उत्साह NCERT solutions for class 10th भावार्थ

0

उत्साह कविता का सारांश Class 10 Hindi

उत्साह कविता का सारांश में कवि काले बदल का वर्णन किया है और कहता है की ओ बादल ! तुम खूब गरजो, कड़को, गड़गड़ाओ। तुम अपनी भयंकर गर्जन-तर्जन से इस आकाश को घेर लो, इस तरह कि बातें बादल के साथ कवि करता है,साथ में कहता है कि तुम बरसने के लिए बेचैन थे, और अनमने से प्रतीत हो रहे थे। विश्व के लोग पीड़ित एवं प्यासे थे।आप पूरी व्याख्या नीचे पढ़ सकते है ।

★ उत्साह

1.       बादल, गरजो!

घेर घेर घोर गगन, धाराधर ओ!

ललित ललित, काले घुँघराले,

बाल कल्पना के-से पाले,

विद्युत-छबि उर में, कवि, नवजीवन वाले!

वज छिपा, नूतन कविता

फिर भर दो- 

बादल, गरजो!

(1.) उद्धृत काव्यांश का आशय (व्याख्या) स्पष्ट करें।

उत्तर-उत्साह कविता का सारांश के इस भाग में कवि बादल में क्रांति का स्वर सुनता है। वह उसके गड़गड़ाते स्वर पर मोहित होकर कहता है- ओ बादल ! तुम खूब गरजो, कड़को, गड़गड़ाओ। तुम अपनी भयंकर गर्जन-तर्जन से इस आकाश को घेर लो। तुम्हारे केश कितने सुंदर, काले और घुघराले हैं। ये कल्पना के विस्तार के समान घने हैं। कवि बादल को कवि की संज्ञा देते हुए कहता है- अपने हृदय में बिजली की चमक छिपाए हुए ओ कवि ! संसार को नया जीवन देने वाले ओ कवि! तुम अपनी भावनाओं में वज छिपाकर समूचे संसार में जोश का पौरुषमय स्वर भर दो। हे बादल! तुम गरजो, गड़गड़ाओ।

(2.) उद्धृत काव्यांश का आशय (व्याख्या) स्पष्ट करें।

2. विकल विकल, उन्मन थे उन्मन

विश्व के निदाघ के सकल जन,

आए अज्ञात दिशा से अनंत के घन!

तप्त धरा, जल से फिर

शीतल कर दो-

बादल, गरजो!

उत्तर-हे बादल ! तुम बरसने के लिए बेचैन थे और अनमने से प्रतीत हो रहे थे। विश्व के लोग पीड़ित एवं प्यासे थे। सभी लोग तुम्हारी ओर आशा भरी नजरों से देख रहे थे। यहाँ बादल क्रांति के प्रतीक बन जाते हैं। लोग क्रांति को अपना समस्याओं से मुक्ति के रूप में देखते हैं। तब ये क्रांति के बादल अज्ञात दिशा से आकर इस जलती धरती पर जल बरसा कर इसे शीतल कर देते हैं। यह बादल जहाँ एक ओर पीड़ित प्यासे जन की आकांक्षा को पूरा करने वाला है तो दूसरी तरफ यही बादल नई कल्पना और नए अंकुर के लिए विध्वंस, विप्लव और क्रांति की चेतना को संभव करने वाला है।

यदि आप इस पाठ से जुड़ी महत्वपूर्ण प्रश्नों का हल देखना चाहते हैं तो यहां पर क्लिक करें

यदि आप इस पाठ की अभ्यास प्रश्न को अध्ययन करना चाहते हैं तो यहां पर क्लिक करें

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here