उपभोक्ता अधिकार पाठ 5 दीर्घ उत्तरीय प्रश्न | Ncert Solutions For Class 10th Economics

0

उपभोक्ता अधिकार पाठ 5 दीर्घ उत्तरीय प्रश्न | Ncert Solutions For Class 10th Economics के इस अध्याय में क्लास 10 में पढ़ रहे सभी विद्यार्थियों का स्वागत है, इस पाठ में आज उपभोक्ता अधिकार के बारे में जितने भी परीक्षा उपयोगी दीर्घ उत्तरीय प्रश्न हैं, उन सभी प्रश्नों का उत्तर इस ब्लॉग पोस्ट पर कवर किया गया है,
जो कि पिछले परीक्षाओं में कई बार पूछे जा चुके हैं, और उम्मीद है, आने वाली परीक्षाओं में भी पूछे जा सकते हैं, क्योंकि यह बहुत ही महत्वपूर्ण प्रश्न है, इसलिए यदि आप इस पेज पर विजिट कर रहे हैं, तो कृपया करके पूरा पोस्ट ध्यानपूर्वक पढ़ें जिसे आप की परीक्षा की तैयारी भी अच्छी हो जाएगी और दूसरी जगह से पढ़ने की कोई जरूरत ही नहीं पड़ेगी ।

उपभोक्ता अधिकार पाठ 5 दीर्घ उत्तरीय प्रश्न के उत्तर Ncert Notes

उपभोक्ता अधिकार पाठ 5 दीर्घ उत्तरीय प्रश्न के उत्तर
उपभोक्ता अधिकार पाठ 5 लघु उत्तरीय प्रश्न के उत्तर
उपभोक्ता अधिकार पाठ 5 अति लघु उत्तरीय प्रश्न के उत्तर
1 भारत में उपभोक्ताओं को समर्थ बनाने के लिए सरकार द्वारा किन कानूनी मापदंडों को लागू करना चाहिए। अथवा 1986 के उपभोक्ता सुरक्षा कानून के महत्व की व्याख्या करें यह क्यों
पास किया गया ?
उत्तर-इस संदर्भ में सरकार द्वारा कई कानूनी मानदंड लागू किए गए थे। इनमें उपभोक्ता संरक्षण अधिनियम, 1986 शामिल है। सरकार ने अन्य अधिनियमों के कई प्रावधानों में भी संशोधन किए हैं। ये उपाय हैं-
(क) उपभोक्ता संरक्षण अधिनियम कुछ विशिष्ट वस्तुओं को छोड़कर सभी वस्तुओं एवं सेवाओं पर लागू होता है।
(ख) इसके अंतर्गत सभी आर्थिक क्षेत्रक आते हैं’!
(ग) इस अधिनियम के प्रावधान क्षतिपूरक, संरक्षणात्मक और दण्डात्मक प्रकृति के हैं।
(घ) यह उपभोक्ताओं के सभी अधिकारों को सुनिश्चित करता है।
(ङ) उपभोक्ताओं के अधिकारों को प्रोत्साहित और संरक्षित करने के लिए जिला, राज्य और राष्ट्रीय स्तरों पर उपभोक्ता सुरक्षा परिषदों की स्थापना की गई
(च) उपभोक्ता विवादों का सरल, शीघ्र और सस्ता निपटारा करने के लिए जिला, राज्य एवं राष्ट्रीय स्तरों पर एक त्रिस्तरीय न्यायिक तंत्र की स्थापना की गई सरकार को चाहिए कि वह इससे संबंधित कानूनों को कड़ाई से लागू करे।
3 उपभोक्ता संरक्षण अधिनियम, 1986 को विस्तार से लिखें ?
उत्तर- सुरक्षा का अधिकार- मनुष्य जीवन के लिए नुकसानदेह या हानिकारक वस्‍तुओं और सेवाओं के खिलाफ संरक्षण प्रदान करने का अधिकार ।
उपचार का अधिकार- गलत या प्रतिबंधित कारोबारी गतिविधियों या शोषण के खिलाफ कानूनी उपचार की मांग करने का अधिकार।
सूचना का अधिकार- उपभोक्‍ता द्वारा अदा की गई कीमतों की वस्‍तुओं या सेवाओं की गुणवत्ता, मात्रा, वजन और कीमतों की जानकारी तथा गलत व्‍यापारिक प्रक्रियाओं द्वारा किसी उपभोक्‍ताओं को ठगा नहीं जा सके , इसके लिए भी अधिकार प्राप्त है ।
सुने जाने का अधिकार- उपयुक्‍त फोरम पर सुने जाने का अधिकार और यह आश्‍वासन कि विषय पर उचित ध्‍यान दिया जाने का अधिकार ।
चुनने को अधिकार- प्रतिस्‍पर्धी कीमतों पर वस्‍तुओं और सेवाओं के अनेक प्रकारों तक यथासंभव पहुंच को निश्‍चित करने का अधिकार।
उपभोक्‍ता शिक्षा का अधिकार– उपभोक्‍ता शिक्षा तक पहुंच पाने का अधिकार ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here