परोपकार ही जीवन का सार है

परोपकार से बढ़कर कोई उत्तम कर्म नहीं

परोपकार निबंध परिचय सेवा की भावना ही सही मायने में मनुष्य को असली ‘मनुष्य’ बनाती है । कभी किसी भूखे आदमी को खाना खिलाते समय उनके चेहरे पर व्याप्त सन्तुष्टि …

Read More