पाठ 1 भूगोल,संसाधन एवं विकास, क्लास 10th,अति लघुउत्तरीय प्रश्नोत्तर

0

संसाधन एवं विकास,अति लघुउत्तरीय प्रश्नोत्तर क्लास10th

संसाधन एवं विकास प्रश्नोत्तर ,अति लघुउत्तरीय पाठ 1 भूगोल क्लास 10 प्राकृतिक संसाधन एवं उनके विकाश के इस अध्ययन में आप सभी विद्यार्थियों का स्वागत है आज हम इस पाठ से जुड़ी हर महत्वपूर्ण प्रश्न जो अति लघु उत्तरीय है उन सभी सवालों का हल इस ब्लॉग में देखेंगे इसलिए आप सभी विद्यार्थियों से अनुरोध है कि इस ब्लॉग को आप पूरा पढ़ें और अपना ज्ञान अर्जित करें ताकि आने वाले आगामी परीक्षा में आपका अच्छा नंबर आ सके तो चलिए शुरू करते हैं

अति लघु उत्तरीय प्रश्नोत्तर

1.लौह अयस्क किस प्रकार का संसाधन है-
(a) नवीकरण योग्य,
(b) जैव,
(c) प्रवाह,
(d) अनवीकरण योग्य।
उत्तर-(d)
2. ज्वारीय ऊर्जा निम्नांकित में से किस प्रकार का संसाधन है-
(a) पुनः पूर्ति योग्य,
(b) मानवकृत,
(c) अजैव,
(d) अचक्रीय।
उत्तर-(a)
3. पंजाब में भूमि निम्नीकरण का निम्नांकित में से मुख्य कारण क्या है-
(a) गहन खेती,
(b) वनोन्मूलन.
(c) अधिक सिंचाई.
(d) अति पशुचारण।
उत्तर-(c)
4. निम्नांकित में से किस प्रांत में सीढ़ीदार (सोपानी) खेती की जाती है-
(a) पंजाब,
(b) हरियाणा,
(c) उत्तर प्रदेश के मैदान,
(d) उत्तरांचल।
उत्तर-(d)
5. किस राज्य में काली मृदा पाई जाती है ?
(a) जम्मू और कश्मीर,
(b) गुजरात,
(c) राजस्थान,
(d) झारखण्ड।
उत्तर-(b)
6. उत्पत्ति के आधार पर संसाधन का वर्गीकरण करें।
उत्तर-जैव और अजैव।
7.समाप्यता के आधार पर संसाधन का वर्गीकरण करें।
उत्तर-नवीकरण योग्य और अनवीकरण योग्य।
8. संसाधन किसे कहते हैं ?
उत्तर-मनुष्य के आर्थिक विकास के लिए मानव जिन जिन साधनों का उपयोग या प्रयोग करता है, वे सभी ‘संसाधन’ कहलाते हैं। जैसे- मिट्टी, वन, कल-कारखाने।
9 प्राकृतिक संसाधन क्या हैं ?
उत्तर- प्रकृति द्वारा प्रदत्त या प्रदान की गई वे सभी वस्तुएँ जो मानव द्वारा उपयोग में लाई जाती हैं उन्हें प्राकृतिक संसाधन कहा जाता हैं। जैसे-वन, भूमि, पर्वत, पठार आदि।

संसाधन एवं विकास महत्वपूर्ण प्रश्नोत्तर

10 प्राकृतिक संसाधन कितने प्रकार के है?
उत्तर-प्राकृतिक संसाधन दो भागों में विभाजित किया गया है जो निम्लिखित है – जैविक तथा अजैविक। भूमि जल तथा मृदा वन और जीव-जन्तु जैविक संसाधन के अंतर्गत आते हैं जबकि भूमि, जल, मृदा आदि अजैविक संसाधन के अंतर्गत आते हैं जबकि वन, जीव-जन्तु जैविक संसाधन हैं।
11 मानव निर्मित संसाधनों के चार उदाहरण दें।
उत्तर-मानव निर्मित संसाधनों के उदाहरण निम्लिखित है — (क) बाँध, (ख) उद्योग, (ग) मशीन, (घ) मकान।
12 नवीकरणीय संसाधन किसे कहते हैं ? इसके दो उदाहरण दें।
उत्तर-वे सभी संसाधन जो कभी भी इस धरती से समाप्त नहीं होते तथा एक बार प्रयोग करने के उपरांत भी उन्हें एक निश्चित समय के बाद में दोबारा प्राप्त किया जा सकता है, नवीकरणीय संसाधन कहलाते हैं।नवीकरणीय संसाधनों के दो उदाहरण- (क) जल, (ख) पेड़-पौधे और जीव-जन्तु ।
13 अनवीकरणीय संसाधन किसे कहते हैं ? इसके दो उदाहरण दें।
उत्तर-वे सभी संसाधन जो एक बार प्रयोग या उपयोग करने के उपरांत समाप्त हो जाते हैं तथा उन्हें एक निश्चित समयावधि में दोबारा प्राप्त, या उपयोग नहीं किया जा सकता है, अनवीकरणीय संसाधन कहलाते हैं। अनवीकरणीय संसाधनों के दो उदाहरण- (क) खनिज, (ख) गैस एवं कोयला।
14 लौह अयस्क किस प्रकार का संसाधन है ?
उत्तर-लौह अयस्क गैर-नवीकरणीय संसाधन है।
15 ज्वारीय ऊर्जा किस प्रकार का संसाधन है ?
उत्तर-ज्वारीय ऊर्जा नवीकरणीय संसाधन है।
16 परंपरागत ऊर्जा के दो स्रोतों का नाम लिखें।
उत्तर-(क) कोयला, (ख) पेट्रोलियम ।

संसाधन एवं विकास परीक्षा उपयोगी प्रश्नोत्तर 

17 संसाधनों का संरक्षण क्यों आवश्यक हैं ?
उत्तर- हमारी पृथ्वी पर कुछ कुछ संसाधन ऐसे हैं जो कभी भी समाप्त नहीं होते हैं। कुछ संसाधन ऐसे भी हैं जो कभी भी समाप्त हो सकते हैं। जो समाप्त होने वाले संसाधन हैं उनका संरक्षण आवश्यक है जैसे- पेट्रोलियम, कोयला आदि। इन संसाधनों को संरक्षण प्रदान नहीं किया गया तो आने वाले पीढ़ी के लिए समस्या उत्पन्न हो सकती है।
18 जैविक और अजैविक संसाधनों के दो-दो उदाहरण दें।
उत्तर- वन और जीव जंतु सभी जैविक संसाधन के अंतर्गत आते हैं जबकि भूमि जल मृदा आदि अजैविक संसाधन में आते है
19 नियोजन की आवश्यकता क्यों है?
उत्तर-हमारे संसाधन सीमित है। हमारे देश में उनका वितरण भी असमान है। अतः संसाधनों के
विकास के लिए नियोजन बहुत आवश्यक है। संसाधन नियोजन के तीन स्तर है-
(क) संसाधनों के अन्वेषण की तैयारी,
(ख) विकास के लिए संसाधनों की उपलब्धता का मूल्यांकन करना ,
(ग) संसाधनों के शोषण की योजना।
20 सतत् पोषणीय विकास का क्या अर्थ है ?
उत्तर-सतत् पोषणीय आर्थिक विकास का अर्थ यह है कि हमारे विकास पर्यावरण को बिना कोई नुकसान पहुँचाए हो और वर्तमान विकास की प्रक्रिया भविष्य की पीढ़ियों की आवश्यकता की किसी प्रकार की अवहेलना न करे।
21 आयु या उम्र के आधार पर जलोढ़ मृदाएँ कितने प्रकार के हैं ?
उत्तर-आयु के आधार पर जलोढ़ मृदाएँ दो प्रकार की हैं-
(क) पुराना जलोढ़ (बांगर).
(ख) नया जलोढ़ (खादर)।
बांगर मृदा में ‘कंकड़’ ग्रंथियों की मात्रा बहुत ज्यादा होती हैं।
खादर मृदा में बांगर मृदा की तुलना में ज्यादा तर महीन कण भी पाए जाते हैं।
22 पंजाब में भूमि के निम्नीकरण का मुख्य कारण क्या है ?
उत्तर-भारत के पंजाब में भूमि के निम्नीकरण का मुख्य कारण अत्यधिक सिंचाई है।
23 पूर्वी तट के नदी डेल्टाओं पर किस प्रकार की मृदा पाई जाती है ? इस प्रकार की मृदा की तीन मुख्य विशेषताएँ क्या हैं ?
उत्तर-पूर्वी तट के नदी डेल्टाओं में जलोढ़ मृदा पाई जाती है। इस प्रकार की
मुख्य विशेषताएँ हैं-
मृदा की
(क) जलोढ़ मिट्टी का निर्माण नदियों द्वारा लाए गए अवसादों से होता है।
(ख) जलोढ़ मिट्टी सभी फसलों के लिए उपयुक्त होती है और काफी उपजाऊ
होती है।
(ग) यह देश की महत्त्वपूर्ण मृदा है जो देश के एक विस्तृत क्षेत्र में फैली हुई है।
24 मृदा किस प्रकार बनती हैं ?
उत्तर-मृदा का अपरदन कई प्रकार से होता है जैसे-
(क) नदियों द्वारा लाये गये अवसादों से,
(ख) ज्वालामुखी उद्गारों से,
(ग) जैविक कारणों (जन्तुओं और पौधों की क्रियाओं) से।
से कौन-सी फसल उगाई जाती है ?
ऐसी मिट्टी में मुख्य रूप से कपास की फसल उगाई जाती है।


  • यदि आप क्लास 10th के किसी भी विषय को पाठ वाइज (Lesson Wise) अध्ययन करना या देखना चाहते है, तो यहाँ पर  क्लिक करें  उसके बाद आप क्लास X के कोई भी विषय का अपने पसंद के अनुसार पाठ select करके अध्ययन कर सकते है ।

संसाधन एवं विकास छोटे प्रश्न

25 भारत के तीन राज्यों के नाम बताएँ जहाँ काली मृदा पाई जाती है। इस पर मुख्य रूप
उत्तर-भारत के तीन राज्य जहाँ काली मृदा पाई जाती है- गुजरात, महाराष्ट्र और मध्य प्रदेश।
26. जैव और अजैव संसाधन क्या होते है ? उदाहरण दें।
उत्तर जैव संसाधन ये हैं जिनमें जीवन व्याप्त होता है, जैसे- मनुष्य, पशु और वनस्पति
अजैव संसाधन ये हैं जो निर्जीव वस्तुओं से बने हैं। जैसे- चट्टान एवं धातुएँ आदि।
27 मृदा का अपरदन किस प्रकार होता है?
उत्तर-मृदा का अपरदन प्रवाहित जल और पवन द्वारा होता है। मृदा अपरदन अधिक वर्षा वाले क्षेत्रों और पर्वतीय भागों में भी अधिक होता है।
28 भूक्षरण या भूमि निम्नीकरण का क्या अर्थ है ?
उत्तर-कुछ प्राकृतिक कारणों (जैसे- मृदा अपक्षय आदि) तथा मानव की गतिविधियों द्वारा भूमि अनुपजाऊ होती जा रही है। इसे भूक्षरण कहते हैं। वनों की कटाई तथा पशुओं की अधिक चराई इसके दो मुख्य कारण है।
29 काली मिट्टी की दो विशेषताएँ लिखें।
उत्तर-काली मिट्टी की दो विशेषताएँ-
(क) इस मिट्टी में नमी सोखने की क्षमता अधिक होती है।
(ख) कैल्सियम कार्बोनेट, पोटाश, मैग्नीशियम काबोनेट और चूना इसके मुख्य पोषक तत्व हैं।
30 लैटेराइट मिट्टी की दो विशेषताएँ लिखें।
उत्तर-लेटेराइट मिट्टी की दो विशेषताएँ-
(क) इसमें चूने और मैग्नेशियम का अंश कम होता है।
(ख) नाइट्रोजन की कमी और फास्फोरिक एसिड की मात्रा अधिक होती है।
31 काली मिट्टी कौन-सी फसलों के लिए उपयुक्त है ?
उत्तर-काली मिट्टी कपास, तिलहन आदि फसलों के लिए उपयुक्त है।
32 भारत के किन राज्यों में काली मिट्टी पाई जाती है ?
उत्तर-काली मिट्टी भारत के आंध्र प्रदेश, गुजरात, महाराष्ट्र, उतर प्रदेश आदि राज्यों में पाई जाती है?
33 लाल मिट्टी की रचना कैसे होती है?
उत्तर-लाल मिट्टी की रचना ग्रेनाइट और नीस जैसी रवेदार चट्टानों से होती है। लोहे के
यौगिकों की अधिकता के कारण इसका रंग लाल होता है
34 किस प्रांत में सीढ़ीदार खेती की जाती है ?
उत्तर-भारत में उत्तराखण्ड में सीढ़ीदार अथवा सोपानी खेती की जाती है।
35 उत्खात भूमि क्या है ?
उत्तर-बहता हुआ जल मिट्टी को काटते हुए गहरी नालियाँ बना लेता है जिन्हें अवनलिकाओं
के नाम से जाना जाता है। ऐसी भूमि कृषि योग्य नहीं रह जाती है, अतः इसे उत्खात भूमि के नाम से जाना जाता है।


  • यदि आप क्लास 10th के किसी भी विषय को पाठ वाइज (Lesson Wise) अध्ययन करना या देखना चाहते है, तो यहाँ पर  क्लिक करें  उसके बाद आप क्लास X के कोई भी विषय का अपने पसंद के अनुसार पाठ select करके अध्ययन कर सकते है ।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here