सच्चे कलाकार की दृष्टि ( नैतिक शिक्षा ) पाठ 3 महत्वपूर्ण प्रश्नों के उत्तर । Ncert Solution For class 8th moral education

0

सच्चे कलाकार की दृष्टि ( नैतिक शिक्षा ) पाठ 3 महत्वपूर्ण प्रश्नों के उत्तर । Ncert Solution For class 8th के इस पोस्ट में आप सभी विद्यार्थियों का स्वागत है, इस पोस्ट के माध्यम से आप सभी विद्यार्थियों को पाठ से जुड़ी सभी महत्वपूर्ण परीक्षा उपयोगी प्रश्नों के उत्तर अध्ययन करने के लिए एक ही जगह इस पोस्ट पर मिलेगा जो आपके लिए काफी उपयोगी होगी तो चलिए शुरू करते हैं-

सच्चे कलाकार की दृष्टि ( नैतिक शिक्षा ) पाठ 3 वस्तुनिष्ट प्रश्नों के उत्तर

सही विकल्प का चयन करें-

1 नेकचंद ने किस तरह की प्रसिद्धि पाई ?
(a) बनी बनायी चीजों का उपयोग कर,
(b) रद्दी, कूड़ा-करकट आदि बेकार चीजों का इस्तेमाल कर,
(c) अच्छी चीजों का दुरुपयोग कर,
(d) सभी चीजों का दुरुपयोग कर।
उत्तर-(b)

2 नेकचंद चंडीगढ़ में किस विभाग में कार्यरत थे ?
(a) उद्यान कृषि विभाग,
(b) शहरी विकास विभाग,
(c) मत्स्य विभाग,
(d) वानिकी विभाग।
उत्तर-(a)

3 ‘सच्चा कलाकार’ किसे कहा गया है ?
(a) जो हर वस्तु में बुराई खोजता है,
(b) जो हर व्यक्ति में अच्छाई खोजता है,
(c) जो कभी किसी की बुराई नहीं करता है,
(d) जो हर वस्तु में सौंदर्य खोजता है।
उत्तर-(d)

4 नेकचंद को हर बेकार वस्तु में क्या नजर आने लगी ?
(a) विलासिता.
(b) कलात्मकता,
(c) उत्पादकता.
(d) अनुत्पादकता।
उत्तर-(b)

सच्चे कलाकार की दृष्टि ( नैतिक शिक्षा ) पाठ 3 अति लघु उत्तरीय प्रश्नों के उत्तर

निम्नांकित प्रश्नों के उत्तर लिखें-

1 क्या होगा यदि-

(क) हम रद्दी, कूड़ा-करकट और बेकार चीजों को जहाँ-तहाँ फेंकते रहेंगे।
उत्तर-परिणाम- पर्यावरण प्रदूषित हो जाएगा।

(ख) हम सभी अपने स्वच्छता संबंधी दायित्वों को निभाने लगेंगे।
उत्तर-परिणाम- पर्यावरण स्वच्छ रहेगा।

(ग) नेकचंद की तरह बेकार की वस्तुओं का सदुपयोग करने लगेंगे।
उत्तर-परिणाम- पर्यावरण तो स्वच्छ रहेगा ही हमारी कल्पनाशक्ति एवं सृजनशीलता का भी विकास होगा।

(घ) हम प्लास्टिक या उससे बनी चीजों का अधिक इस्तेमाल करेंगे।
उत्तर-परिणाम- भूमि, जल एवं वायु सभी प्रदूषित होने लगेंगे क्योंकि प्लास्टिक कचरे का निपटान की प्रक्रिया लम्बी एवं जटिल होती है।

(ङ) जल का दुरुपयोग करेंगे।
उत्तर-परिणाम- भविष्य में गंभीर जल संकट का सामना करना पड़ेगा।

2 नेकचंद के कार्यों के लिए उनकी सराहना क्यों होने लगी?
उत्तर-नेकचंद के कार्यों के लिए उनकी इसलिए सराहना होने लगी क्योंकि उन्होंने अपनी कल्पनाशक्ति एवं सृजनशीलता से कूड़े-कचरों एवं बेकार पड़ी चीजों का सदुपयोग करने की एक नवीन सोच समाज के सम्मुख प्रस्तुत की।

3 नेकचंद के जीवन से आपको क्या प्रेरणा मिलती है?
उत्तर-नेकचंद के जीवन से हमें अपनी सोच को सकारात्मक रखते हुए नित् नए प्रयोग करने की प्रेरणा मिलती है।

4 आप अपने विद्यालय एवं घर के कूड़े-करकट का निपटारा कैसे करते हैं ?
उत्तर-हम अपने विद्यालय एवं घर के कूड़े-कचरे का निपटारा आवश्यकतानुसार उन्हें जलाकर एवं जमीन के अंदर दबाकर करते हैं।

5 कई लोग नेकचंद की तरह बेकार की वस्तुओं से सुंदर एवं उपयोगी चीजें बनाते है। आप निम्नांकित चीजों से क्या-क्या बनाएँगे-
(क) पानी की खाली बोतलें,
(ख) टूटी हुई चप्पलें,
(ग) माचिस के खाली डिब्बे,
(घ) चूड़ियाँ,
(ङ) पुराने अखबार।

उत्तर-(क) पानी की खाली बोतलों में छोटे-छोटे मौसमी फूल के पौधे लगाएँगे।
(ख) टूटी हुई चप्पलों को काटकर विभिन्न ज्यामितीय आकृति बनाएंगे।
(ग) माचिस के खाली डिब्बों से वॉल हैगिंग एवं खिलौने बनाएँगे।
(घ) चूड़ियों से वॉल हैगिंग बनाएँगे।
(ङ) पुराने अखबार से कागज के खिलौने एवं ज्यामितीय आकृति बनाएँगे। अपनी किताबों में जिल्द लगाएँगे। jac board