राष्ट्रीय अर्थव्यवस्था की जीवन रेखाएँ पाठ 7 | Ncert Solution For Class 10th Geography

0

राष्ट्रीय अर्थव्यवस्था की जीवन रेखाएँ पाठ 7 | Ncert Solution For Class 10th Geography के इस ब्लॉग पोस्ट पर आप सभी विद्यार्थियों का स्वागत है , इस ब्लॉग पोस्ट में पाठ से जुडी हर महत्त्व पूर्ण दीर्घ उत्तरीय सवालों का हल आपको read करने के लिए मिलेगा ।

राष्ट्रीय अर्थव्यवस्था की जीवन रेखाएँ पाठ 7 | Ncert Solution For Class 10th

राष्ट्रीय अर्थव्यवस्था की जीवन रेखाएँ दीर्घ उत्तरीय प्रश्न
राष्ट्रीय अर्थव्यवस्था की जीवन रेखाएँ लघु उत्तरीय प्रश्न
राष्ट्रीय अर्थव्यवस्था की जीवन रेखाएँ अति लघु उत्तरीय प्रश्न
1 परिवहन तथा संचार के साधन किसी देश की जीवन रेखा तथा अर्थव्यवस्था क्यों कहे जाते है?
उत्तर-परिवहन तथा संचार के साथ किसी देश की जीवन रेखा तथा अर्थवावस्था निम्नांकित कारणों से कहे जाते है-
(क) सुरक्षा के दृष्टिकोण से परिवहन का व्यापक महत्व है। इससे सुरक्षा दस्तों के आवागमन में आसानी होती है।
(ख) परिवहन लोगों को एक स्थान से दूसरे स्थान तक आने-जाने का महत्वपूर्ण साधन है। इससे सामाजिक गतिशीलता में वृद्धि होती है।
(ग) परिवहन उद्योगों की स्थापना तथा विकास का आधार है। परिवहन के माध्यम से उद्योगों को कच्चा माल प्राप्त होता है तथा परिवहन के माध्यम से ही औद्योगिक इकाइयों में तैयार माल बाजारों तक पहुँचता है।
(घ) परिवहन कृषि तथा व्यापार के विकास के लिए आवश्यक है।
(ड) संचार के साधनों के विकास के परिणामस्वरूप महत्त्वपूर्ण सूचनाओं और सदेशों का दूरस्थ स्थानों तक सम्प्रेषण सरल हो गया है।
(च) आधुनिक संचार तथा परिवहन के साधन हमारे देश और इसकी आधुनिक अर्थव्यवस्था को संचालित करते है। इसलिए सघन व सक्षम परिवहन का जाल तथा संचार के साधन आज विश्व राष्ट्र व स्थानीय व्यापार हेतु पूर्व-अपेक्षित है। इसीलिए इन साधनों को देश की जीवन रेखाएं तथा
अर्थव्यवस्था कहा जाता है |
2 पिछले पन्द्रह वर्षों में अंतर्राष्ट्रीय व्यापार की बदलती प्रवृत्ति पर एक लेख लिखें।
उत्तर(क) वस्तुओं के आदान-प्रदान के साथ सेवाओं के आदान-प्रदान में वृद्धि हुई है तथा सूचनाओं, ज्ञान और प्रौद्योगिकी का भी आदान-प्रदान बढ़ा है। अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर भारत एक सॉफ्टवेयर महाशक्ति के रूप में उभरा है।
(ख) सूचना प्रौद्योगिकी की सहायता से भारी मात्रा में विदेशी मुद्रा अर्जित कर रहा है।
(ग) कोयले के उत्पादन में अग्रणी देश होने के बावजूद, भारत पिछले कुछ वर्षों से कोयले का आयात कर रहा है।
(घ) भारत में पिछले पंद्रह वर्षों में निर्यात की तुलना में आयात में वृद्धि हुई है। एक समूह के रूप में भारी वस्तुओं के आयात में 39.9 प्रतिशत की वृद्धि हुई है।
(ङ) भारतीय कंपनियाँ हरेक क्षेत्र में कदम उठाकर, देशी-विदेशी कंपनियों का समाकलन करके, तथा विदेशी कंपनियों खरीदकर वैश्वीय स्तर पर अपना विस्तार कर रही हैं।
(च) आज संयुक्त राष्ट्र अमेरिका की सिलिकन घाटी में सूचना प्रौद्योगिकी व्यवस्था में लगे कुल पेशेवर लोगों में 87% भाग भारतीयों का है।

राष्ट्रीय अर्थव्यवस्था की जीवन रेखाएँ पाठ 7 | Ncert Solution For Class 10th भूगोल 

3 आधुनिक समय में संचार के साधनों की महत्ता का वर्णन करें।
उत्तर-आधुनिक समय में संचार के साधनों की महत्ता इस प्रकार है-
(क) संचार के साधनों से हमें अपने लिखित संदेशों को आसानी से संसार के एक कोने से दूसरे कोने में पहुँचाने में सुविधा होती है।
(ख) हम इनके द्वारा संसार के एक नगर में बैठकर दूर दराज के नगरों में बैठे आदमियों से बातचीत कर सकते हैं, संदेश दे तथा ले सकते हैं।
(ग) विश्व में किसी भी स्थान पर बैठकर व्यापार सौदे किये जाते हैं। टेलिफोन, सेल्युलर टेलिफोन आदि द्वारा माल की खरीद बेच भी कुछ ही मिनटों में की जा सकती है।
(घ) जनता को विभिन्न घटनाओं की सूचना मुद्रित समाचार पत्रों, पत्र-पत्रिकाओं, रेडियो, टेलिविजन तथा इंटरनेट के माध्यम से शीघ्र मिल जाती है।
(ङ) विभिन्न घटनाओं को टेलिविजन पर घटते हुए देखा जा सकता है।
(च) लोगों द्वारा सरकार के प्रति विचाराधारा बनाने में भी जनसंचार के साधन विशेष भूमिका निभाते हैं। इन साधनों द्वारा सरकार की कल्याणकारी नीतियों, कार्यों आदि तथा उसके जनविरोधी कार्यों, नीतियों आदि का पता भी जनता को होता रहता है।
(छ) इन माध्यमों से जनता का मनोरंजन भी होता है।
(ज) शैक्षिक तथा खेल संबंधी कार्यक्रमों की जानकारी प्राप्त होती है तथा शिक्षा के प्रचार तथा प्रसार से सहायता मिलती है।
(झ) संचार के साधनों द्वारा ही हमें संसार के किसी भाग में घटित प्राकृतिक विपदाओं के बारे में जानकारी प्राप्त होती है।
4 राष्ट्रीय महामार्ग तथा राज्य महामार्ग में अन्तर बताएँ। देश के प्रमुख महानगरों को जोड़ने वाले मुख्य मार्गों की आवश्यकता क्यों है ?
उत्तर- राष्ट्रीय महामार्ग- देशव्यापी पूर्व-पश्चिम तथा उत्तर-दक्षिण को मिलाने वाली मुख्य सड़कें राष्ट्रीय महामार्ग कहलाती है। ये सड़कें भिन्न राज्यों से होकर जाती है और उन राज्यों के मुख्य नगरों को आपस में मिलाती है। इस प्रकार इन सड़कों का अपना राष्ट्रीय महत्व है। इनका निर्माण एवं देखभाल केन्द्रीय सरकार द्वारा किया जाता है। ग्रांड ट्रंक रोड इसका एक अच्छा उदाहरण है यह सड़क भारत का सबसे बड़ा राष्ट्रीय महामार्ग है जो अमृतसर और कोलकाता को मिलाता है और भारत के कई राज्यों से होकर जाता है।
राज्य महामार्ग- राज्य की राजधानियों को राज्य के अन्य नगरों से मिलाने वाली सड़कों को राज्य महामार्ग कहते हैं। इनका निर्माण एवं देखभाल राज्य सरकारें करती है क्योंकि इन सड़कों का राज्य के लिए विशेष महत्व होता है। दिल्ली में रिंग रोड एक ऐसा ही राज्य मार्ग है। ये सड़कें राज्य के नियन्त्रण में होती है।
देश के प्रमुख महानगरों को जोड़ने वाले मुख्य मार्गों की आवश्यकता-
दिल्ली, कोलकाता, मुम्बई और चेन्नई जैसे महानगरों को जोड़ने वाले फ्री हाईवे की बड़ी आवश्यकता है क्योंकि इन में कच्चे माल एवं निर्मित वस्तुओं की शीघ्र आदान-प्रदान की आवश्यकता नहीं होती वरन् एक बड़े नगर से दूसरे बड़े नगर में राजनीतिक एवं व्यापारी लोग शीघ्र से शीघ आना-जाना चाहते हैं। शीघ्र और मुक्त आदान-प्रदान से न केवल लाभ में वृद्धि होती है वरन् इन नगरों के लोगों की मानसिक संतुष्टि भी होती है।jac 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here