NCERT Solutions for Class 10th: पाठ 7- राष्ट्रीय अर्थव्यवस्था की जीवन रेखाएँ भूगोल

NCERT Solutions for Class 10th: पाठ 7- राष्ट्रीय अर्थव्यवस्था की जीवन रेखाएँ भूगोल के उत्तर के इस सीरीज में आप सभी विद्यार्थियों का स्वागत है इस ब्लॉग पोस्ट में आपको इस पाठ से संबंधित जितने भी परीक्षा उपयोगी लघु उत्तरीय प्रश्न सिलेबस के अंतर्गत आते हैं उन सभी प्रश्नों को इस ब्लॉग पोस्ट पर कवर किया गया है जो पहले भी कई परीक्षाओं में पूछे जा चुके हैं और आने वाले परीक्षा में भी पूछे जा सकते हैं यदि आप इस ब्लॉग पोस्ट को पूरा अध्ययन करते हैं तो आपको परीक्षा की तैयारी करने में काफी मदद मिलेगी |

NCERT Solutions for Class 10th: पाठ 7- राष्ट्रीय अर्थव्यवस्था की जीवन रेखाएँ भूगोल

राष्ट्रीय अर्थव्यवस्था की जीवन रेखाएँ दीर्घ उत्तरीय प्रश्नोत्तर
राष्ट्रीय अर्थव्यवस्था की जीवन रेखाएँ लघु उत्तरीय प्रश्नोत्तर
राष्ट्रीय अर्थव्यवस्था की जीवन रेखाएँ अति लघु उत्तरीय प्रश्नोत्तर

1 सड़क परिवहन के तीन गुण बताएँ।
उत्तर-सड़क परिवहन के अपने विशेष गुण हैं जो रेल परिवहन से तुलना करने पर सामने आते हैं-
(क) यह रेल परिवहन से कहीं बेहतर होता है क्योंकि यह बहुत अधिक लचीला होता है। इसके द्वारा आप निर्माता के द्वार से उपभोक्ता के घर तक पहुँच सकते हैं।

(ख) हमारे देश के बहुत से पहाड़ी भाग ऐसे भी हैं जैसे कश्मीर, असम आदि जहाँ रेलें अभी तक न के बराबर हैं। ऐसे स्थानों में सड़क परिवहन का महत्व और भी बढ़ जाता है।

(ग) सड़क यातायात रेलों द्वारा लाए गए सामान को भी नियत स्थानों पर पहुँचाता है।

2 आजकल रेलें इतनी महत्त्वपूर्ण क्यों हैं? क्यों ?
अथवा. रेल परिवहन कहाँ पर अत्यधिक सुविधाजनक परिवहन साधन है तथा
उत्तर-वर्तमान समय की अर्थव्यवस्था में उद्योगों और व्यापार का तेजी से विकास हुआ है। इन दोनों का विकास बिना रेलमार्ग के नहीं हो सकता है। कृषि से संबंधित वस्तुओं को उद्योगों तक तथा लोगों तक पहुँचाने में रेलमार्ग की भूमिका महत्त्वपूर्ण होती है। यह लोगों के आवागमन का प्रमुख साधन है।

3 सीमांत सड़कों का महत्व बताएँ।
उत्तर-सीमांत सड़कों का महत्व-
(क) ये सड़कें सीमावर्ती क्षेत्रों में रहने वाले विशेषकर अगली चौकियों की रखवाली करने वाले सैनिकों की प्रतिदिन की आवश्यकताओं को पूरा करने में बड़ी सहायक सिद्ध होती है।

(ख) युद्ध के समय इन्हीं सड़कों से फौजियों को लड़ाई का सामान खाद्य-सामग्री तथा अन्य सहायता पहुँचाई जा सकती है।

4 व्यापार से आप क्या समझते हैं ? स्थानीय (राष्ट्रीय) व अंतर्राष्ट्रीय व्यापार में अंतर स्पष्ट करें।
उत्तर-व्यापार- लोगों के मध्य वस्तुओं का क्रय-विक्रय जो राज्यों और देश के आंतरिक क्षेत्रों में होता है व्यापार कहलाता है।

स्थानीय या राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय व्यापार में अन्तर- स्थानीय या राष्ट्रीय व्यापार उस व्यापार को कहते हैं जहाँ चीजों की अदला-बदली देश के अन्दर ही होती है जैसे- एक प्रदेश में चीजों का लाना-ले-जाना। इसमें अपने देश की ही मुद्रा चलती है।

इसके विपरीत जब चीजों की अदला-बदली विश्व के विभिन्न राज्यों में आपस में होती है तो उसे अंतर्राष्ट्रीय व्यापार कहते हैं जैसे पटसन के सामान को भारत द्वारा अन्य देशों को भेजना। अंतर्राष्ट्रीय व्यापार में विदेशी मुद्रा की आवश्यकता पड़ती है।

राष्ट्रीय अर्थव्यवस्था की जीवन रेखाएँ पाठ 2 के प्रश्न उत्तर भूगोल

5 भारत के तीन पाइपलाइनों के महत्त्वपूर्ण परिवहन जाल का ब्यौरा देते हुए पाइपलाइन व्यवस्था का वर्णन करें।
उत्तर भारत में फैले हुए तीन पाइपलाइनों के महत्त्वपूर्ण परिवहन जाल का वर्णन निम्नांकित रूप में किया जा सकता है-

(क) ऊपरी असम तेल क्षेत्र से लेकर उत्तर प्रदेश में कानपुर तक- यह पाइपालाइन गुवाहाटी, बरौनी और इलाहाबाद होकर जाती हैं। इसकी शाखाएँ बरौनी से राजबंध होकर हल्दिया, राजबंध से मौरीग्राम तथा सिलीगुडी से गुवाहाटी तक फैली हैं।

(ख) गुजरात में सलाया से लेकर पंजाब में जालंधर तक- यह पाइपलाइन वीरमगाम, मथुरा, दिल्ली-पानीपत होकर जाती हैं। इसकी शाखाएँ कोयली (वदोदरा के निकट) चाकशू और अन्य स्थानों को जोड़ती हैं।

(ग) गुजरात में हजीरा से लेकर उत्तर प्रदेश में जगदीशपुर तक गैस पाइपलाइन- यह गैस पाइपलाइन मध्य प्रदेश में बिजयपुर होकर जाती हैं। इसकी शाखाएँ कोटा, (राजस्थान) शाहजहाँपुर तथा उत्तर बासीन भी पाइपलाइन से जुड़े हैं।

इनके अलावा दो पाइपलाइन और भी हैं जो मुंबई हाई और मुंबई के बीच तथा मुंबई और पूना के बीच हैं।

कांडला और पानीपत, कांडला और बीना. मुंबई से मनमाड, विशाखापत्तनम से विजयवाड़ा
तथा मंगलौर से बंगलौर होकर चेन्नई तक पाइपलाइन बिछाने के प्रस्ताव हैं।

पाठ 7 – राष्ट्रीय अर्थव्यवस्था की जीवन रेखाएँ भूगोल के नोट्स

6 जल परिवहन, सड़क परिवहन से सस्ता क्यों है ? दो कारण बताएँ।
उत्तर-जल परिवहन का सड़क परिवहन से सस्ता होने के कारण-

(क) जल-परिवहन में टायरों आदि की इतनी घिसाई नहीं होती जितनी सड़क पर चलने से होती है।

(ख) जितने तेल (पेट्रोल या डीजल) से सड़क पर जितनी दूरी पर जाया जा सकता है पानी में उतने तेल से ही कहीं अधिक दूरी तक जाया जा सकता है क्योंकि पानी नौका को स्वयं ऊपर उठाए रखता है।

(ग) पानी पर चलने वाले वाहनों के दुर्घटना की भी कम सम्भावना होती है जबकि सड़क पर चलने वाले वाहनों में दुर्घटना एक आम चीज है।

7 रेलवे की समस्याओं का वर्णन करें।
उत्तर-भारत में रेलवे की निम्नांकित समस्याएँ हैं-
(क) रेलवे की पटरियों पुरानी हो गयी है, उनको प्रतिस्थापित करने की समस्या है।
(ख) रेलवे के मालवाहक तथा सवारी डिब्बे पुराने हो गये हैं। उनके स्थान पर मरम्मत किए गए या नये डिब्बों की आवश्यकता हैं ।

(ग) भाप से चलने वाले इंजनों के स्थान पर डीजल तथा विद्युतीकृत इंजनों के लाने का कार्य एक विकट समस्या है।

(घ) पटरियों को एक गेज में बदलना बहुत बड़ी समस्या है।
(ङ) रेलमार्गों को विद्युतीकृत करना भारी समस्या बन गया है क्योंकि इस काम के लिए भारी धन राशि चाहिए।

(च) भारी संख्या में रोजाना यात्री बिना टिकट यात्रा करते हैं। इससे प्रतिदिन काफी आर्थिक हानि होती है।

(छ) अनावश्यक चैन खींचकर लोग रेलगाड़ियों को लेट कर देते हैं जिससे रेल व्यवस्था पर दुष्प्रभाव पड़ता है।

(ज) रेल रोको आदि आंदोलन से रेलवे को भारी नुकसान उठाना पड़ता है।
(झ) रेलवे सम्पदा की चोरी तथा बर्बादी होती है।

(ञ) रेलवे के द्वारा माल ढोये जाने में देरी की समस्या विकराल रूप धारण कर रही है।

राष्ट्रीय अर्थव्यवस्था की जीवन रेखाएँ क्लास 10th notes Geography

8 भारत की विभिन्न प्रकार की सड़कों का वर्णन करें।
उत्तर-भारत में सड़कें विभिन्न प्रकार की हैं। सड़कों को राष्ट्रीय महामार्ग, राज्य-मार्ग
जिले की सड़कें, गाँव की सड़कें तथा सीमा सड़कों के रूप में बाँटा जा सकता है।

(क) राष्ट्रीय महामार्ग- राष्ट्रीय महत्व की सड़कें हैं। ये एक राज्य को दूसरे राज्य से मिलाती है। इन महामार्गों का निर्माण कार्य एवं रख-रखाव केंद्रीय सरकार द्वारा कराया जाता है।

(ख) राज्य महामार्ग- इसका निर्माण और रख-रखाव का दायित्व राज्य सरकारों का होता है। ये मार्ग राज्य की राजधानी को जिला मुख्यालयों तथा अन्य महत्त्वपूर्ण नगरों से जोड़ते हैं।

(ग) जिले की सड़कें– जिला मुख्यालय को जिले के विभिन्न नगरों व कस्बों से जोड़ती हैं।
(घ) गाँव की सड़कें- गाँवों का निकटवर्ती कस्बों और नगरों से जोड़ती हैं।

(ङ) सीमा सड़के-इनका निर्माण देश की सीमावर्ती क्षेत्रों में किया जाता है। आज सीमा सड़क संगठन ने अपनी गतिविधियों को अन्य क्षेत्रों में फैला रखा है।

9 अंतर्राष्ट्रीय व्यापार क्या है ? अंतर्राष्ट्रीय व्यापार का राष्ट्रीय विकास में क्या योगदान है ? किन्हीं दो बिन्दुओं के विषय में लिखें।
उत्तर-अंतर्राष्ट्रीय व्यापार- दो या दो से अधिक देशों में आपसी व्यापार को अंतर्राष्ट्रीय व्यापार कहा जाता है।

अंतर्राष्ट्रीय व्यापार से राष्ट्रीय विकास में योगदान-

(क) अंतर्राष्ट्रीय व्यापार द्वारा देश की समृद्धि को काफी सहयोग मिलता है, विशेषकर जब इस व्यापार में लगे हुए बहुत से व्यापारियों और कारीगरों को इसमें जीवन उपार्जन के साधन मिलते हैं।

(ख) इस अंतर्राष्ट्रीय व्यापार से हमें वह बहुमूल्य विदेशी मुद्रा प्राप्त होती है जिसका प्रयोग हम अनेक महत्त्वपूर्ण वस्तुओं के आयात में कर सकते हैं जिनकी हमारे देश और उद्योगों को आवश्यकता होती है।

पाठ 7 – राष्ट्रीय अर्थव्यवस्था की जीवन रेखाएँ भूगोल के नोट्स

10 भारत के अंतःस्थलीय जलमार्गों का वर्णन करें।
उत्तर-जलमार्ग परिवहन के सबसे सस्ते साधन हैं। ये भारी तथा अधिक स्थान घेरने वाले समानों को ढोने के लिए अधिक उपयुक्त हैं। भारत में 14,500 किलोमीटर लंबे अंतःस्थालीय जलमार्ग हैं। इनमें से 3700 किलोमीटर लंबे जलमार्गों में यंत्रीकृत नावें चलायी जा सकती हैं।

भारत सरकार ने निम्नांकित जलमार्गों को राष्ट्रीय जलमार्ग घोषित किया है.-

गंगा नदी जलमार्ग- इलाहाबाद और हल्दिया के बीच (1600 किमी)
ब्रह्मपुत्र नदी जलमार्ग- सदिया और धुबरी के बीच (891 किमी)
पश्चिमतटीय नहर- कोल्लम् और कोट्टायम के बीच (168 किमी)
चम्पाकर नहर- (14 किमी)
उद्योगमंडल नहर (22 किमी) अंतिम तीन अंतःस्थलीय जलमार्ग केरल में हैं।

भूगोल कक्षा 10 अध्याय 7 extra Question and answer

11 उत्तर पूर्वी राज्यों में वायु परिवहन अधिक महत्त्वपूर्ण क्यों है ?
उत्तर-उत्तर पूर्वी राज्यों में वायु परिवहन निम्नांकित कारणों से महत्त्वपूर्ण है-
(क) बड़ी नदियों की उपस्थिति, जैसे- ब्रह्मपुत्र ।
(ख) विच्छिन्न धरातल.
(ग) घने वन,
(घ) निरन्तर बाढ़ का आगमन,
(ङ) अंतर्राष्ट्रीय सीमाएँ।
उपर्युक्त कारणों से उत्तर-पूर्वी राज्यों में हवाई यात्रा अपेक्षित है।

12 परिवहन एवं संचार में अंतर स्पष्ट करें।
उत्तर-परिवहन और संचार में अंतर-

परिवहन

(a) परिवहन एक तंत्र है जिसमें यात्रियों और माल को एक स्थान से दूसरे स्थान को लाया और ले जाया जाता है।
(b) परिवहन के साधनों में सड़क, रेल, वायु मार्ग, समुद्र मार्ग सम्मिलित होते हैं।

संचार

(a) व्यक्तियों द्वारा संदेश और सूचनाओं के आदान-प्रदान को संचार कहते हैं।
(b) संचार के साधनों में रेडियों, दूरदर्शन, समाचार-पत्र आदि सम्मिलित किए जाते हैं।

13 व्यक्तिगत संचार और जनसंचार में अंतर स्पष्ट करें।
उत्तर-व्यक्तिगत संचार और जनसंचार में अंतर-

व्यक्तिगत संचार

(a) निजी संचार के साधन हैं जिनका प्रयोग संदेश भेजने के लिए व्यक्ति स्वयं करते हैं।
(b) निजी संचार के साधनों में पोस्टकार्ड, टेलिग्राम, टेलिफोन, ई-मेल, सेल्यूलर टेलिफोन
तथा इंटरनेट हैं।

जनसंचार

(a) जन संचार के साधन वे साधन हैं जिनके द्वारा सूचना तथा संदेश आम जनता को प्राप्त होते हैं।
(b) जन संचार के साधनों में अखबार, पत्र-पत्रिकाओं, रेडियो, टेलिविजन पुस्तकें, चलचित्र तथा कम्प्यूटर आदि को शामिल किया जाता है।
jac Board