इस जल प्रलय में पाठ -1, (फणीश्वरनाथ रेणु)परिचय

0

इस जल प्रलय में, लेखक परिचय

इस जल प्रलय में , पाठ का लेखक जो प्रसिद्ध कथाकार फणीश्वरनाथ रेणु का जन्म सन् 1921 में गाँव औराही हिंगना (जिला पूर्णिया, बिहार) हुआ था। उन्होंने अपनी स्कूली शिक्षा नेपाल से प्राप्त की। सन् 1942 के स्वतंत्रता के आंदोलन के प्रमुख सेनानी रहे रेणु ने नेपाल की सशस्त्र क्रांति तथा राजनीति में भी अहम् भूमिका निभाई। आंचलिक कथाकार के रूप में विख्यात रेणु ने ग्रामीण जीवन का गहन रागात्मक और रसमय चित्र खींचा है। अपनी विशिष्ट भाषा-शैली द्वारा उन्होंने हिंदी कथा-साहित्य को एक नया मंच प्रदान किया। अपने प्रथम उपन्यास ‘मैला आंचल’ के लिये उन्हें पद्मश्री से सम्मानित किया गया।

लेखक फणीश्वरनाथ रेणु की प्रमुख कृतियाँ हैं-

  • परती परिकथा,
  • मैला आँचल,
  • कितने चौराहे
  • जूलूस
  • दीर्घतपा
  • पलटू बाबू रोड

इस जलप्रलय में लेखक के प्रमुख (उपन्यास):-

  • ठुमरी,
  • आदिम रात्रि की महक,
  • अगिनखोर
  • अच्छे आदमी
लेखक फणीश्वरनाथ रेणु की (कहानी-संग्रह);
  • ऋणजल-धनजल,
  • नेपाली क्रांति कथा
  • ठेस
  • लाल पान की बेगम
  • एक आदिम रात्रि की महक
  • संवदिया
  • मारे गये गुलफाम (तीसरी कसम)
  • तबे एकला चलो रे
  • पंचलाइट

(रिपोर्ताज)

  1. श्रुत अश्रुत पूर्वे
  2. नेपाली क्रांतिकथा
  3. वनतुलसी की गंध
  4. ऋणजल-धनजल

इस जल प्रलय में पाठ -1, (फणीश्वरनाथ रेणु) द्वारा लिखित इस पाठ के बारे यदि आप और कुछ जानकारी प्राप्त करना चाहते है जैसे-इनके अभ्यास प्रश्न का उत्तर ,या पाठ से सबंधित किसी भी प्रकार के सवाल के बारे में जानना चाहते है तो इस पाठ के नाम के ऊपर क्लीक करके उस पाठ की पूरी महत्वपूर्ण जानकारी हासिल कर सकते है ।

यदि आप इस पुस्तक के किसी भी पाठ के बारे में जानकारी हासिल करना चाहते है तो आप दिए गए पाठ के नाम के ऊपर क्लीक करके उस पाठ के बारे में पूरी जानकारी हासिल कर सकते है

NCERT Solutions for Class 9 Hindi पाठ 1 – इस जल प्रलय में, लेखक -फणीश्वरनाथ रेणु
NCERT Solutions for Class 9 Hindi पाठ 2 – मेरे संग की औरतें, लेखक -मृदुला गर्ग
NCERT Solutions for Class 9 Hindi पाठ 3 – रीढ़ की हड्डी, लेखक -जगदीश चंद्र माथुर
NCERT Solutions for Class 9 Hindi पाठ 4 – माटी वाली, लेखक -विद्यासागर नौटियाल
NCERT Solutions for Class 9 Hindi पाठ 5 – किस तरह आखिरकार मैं हिंदी में आया, लेखक -शमशेर बहादुर सिंह

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here