Ncert Solution For Class 8th आधुनिक काल में भारत का इतिहास पाठ-1 लघु उत्तरीय प्रश्नोत्तर

0

Ncert Solution For Class 8th आधुनिक काल में भारत का इतिहास पाठ-1 सामाजिक विज्ञान के इस लघु उत्तरीय प्रश्नोत्तर में कक्षा आठवीं में पढ़ रहे सभी छात्र – छात्राओं का wellcome है, इस post के माध्यम से आप सभी विद्यार्थियों को पाठ से जुड़ी सभी महत्वपूर्ण Questions के उत्तर जो कि पिछले कई Exames में पूछे जा चुके हैं, उन सभी प्रश्नों के Answer को इस Post पर Cover किया गया है, जो आपके लिए काफी महत्वपूर्ण है, इसलिए यदि आप इस post पर हैं, तो इन्हें कृपया करके पूरा Read करें ताकि आपकी exams की तैयारी और भी अच्छी हो सके-

Ncert Solution For Class 8th आधुनिक काल में भारत का इतिहास पाठ-1 लघु उत्तरीय प्रश्नोत्तर

1 इतिहास में तारीखों का क्या महत्व है ?
उत्तर-इतिहास अलग-अलग समय पर होनेवाले परिवर्तनों के संबंध में बताता है। अतीत में चीजें किस तरह की थी और अब उनमें क्या बदलाव आये हैं। अतीत और वर्तमान की तुलना के
क्रम में हम तिथिवार घटनाओं का विवरण ढूँढते है। इसलिए इतिहास में तारीखों का महत्व है।

2 जेम्स मिल ने भारतीय इतिहास को किन-किन कालखंडों में विभाजित किया है ?
उत्तर-1817 में स्कॉटलैंड के अर्थशास्त्री और राजनीतिक दार्शनिकजेम्स मिल ने तीन विशाल खंडों में ए हिस्ट्री ऑफ ब्रिटिश इंडिया” (ब्रिटिश भारत का इतिहास) नामक एक किताब लिखी।

इस किताब में उन्होंने भारत के इतिहास को हिंदू, मुसलिम और ब्रिटिश, इन तीन काल खंडों में बाँटा था।

3 अभिलेखागार की आवश्यकता क्यों है ?
उत्तर-अंग्रेजों की मान्यता थी कि चीजों का लिखना महत्त्वपूर्ण होता है। उनके लिए हर निर्देश, हर योजना, नीतिगत फैसले, सहमति जाँच को साफ-साफ लिखना जरूरी था। ऐसा करने के बाद चीजों को अच्छी तरह से अध्ययन किया जा सकता था और उनपर वाद-विवाद किया जा सकता है।

इस समझदारी के चलते ज्ञापन, टिप्पणी और प्रतिवेदन पर आधारित शासन की संस्कृति पैदा होती है। अंग्रेजों ने दस्तावेजों को सुरक्षित रखने के लिए प्रत्येक शासकीय संस्थानों में अभिलेख कक्ष बनवाए।

तहसील के दफ्तर, कलेक्टरेट, कमिश्नर के दफ्तर, प्रांतीय सचिवालय, कचहरी सबके अपने रिकार्ड रूम होते थे। इस प्रकार महत्त्वपूर्ण दस्तावेजों को बचाकर रखने के लिए अभिलेखागार की आवश्यकता होती है।

4 आधुनिक भारत में ऐतिहासिक स्रोत कौन-कौन से है ?
उत्तर-आधुनिक भारत के ऐतिहासिक स्रोतों में किले, मकबरे, शिलालेखों,\ विदेशी यात्रियों की कृतियाँ, पांडुलिपियाँ, मूर्तियाँ बड़ी संख्या में मौजूद हैं।

इसके अतिरिक्त अंग्रेजों ने अपने शासन के दौरान सरकारी रिकॉर्ड रखने की परंपरा की शुरुआत की। इतिहासकारों के लिए यह सरकारी रिकॉर्ड उस युग की जानकारी प्राप्त करने का एक सशक्त माध्यम है।

5 आधुनिक भारत के भौगोलिक भू-भाग का वर्णन करें।
उत्तर-भारत एक विशाल भौगोलिक विस्तार वाला देश है। उत्तर में यह हिमालय के ऊँचे शिखरों से घिरा है। पश्चिम में अरब सागर, पूर्व में बंगाल की खाड़ी तथा दक्षिण में हिन्द महासागर भारतीय प्रायद्वीप को घेरे हुए हैं।

भारत का क्षेत्रफल 32.8 लाख वर्ग किमी है। उत्तर में काश्मीर से लेकर दक्षिण में कन्याकुमारी तक इसका विस्तार लगभग 3200 किमी है।

पूर्व में अरुणाचल प्रदेश से लेकर पश्चिम में कच्छ तक यह विस्तार लगभग 2900 किमी का है। भारत आज चीन के बाद विश्व का दूसरा सबसे अधिक जनसंख्या वाला देश है।

6 अंग्रेजों ने सरकारी दस्तावेजों को किस तरह सुरक्षित रखा?
उत्तर-अंग्रेजों की मान्यता थी कि चीजों का लिखना महत्त्वपूर्ण होता है। उनके लिए हर निर्देश, हर योजना, नीतिगत फैसले, सहमति जाँच को साफ-साफ लिखना जरूरी था।

ऐसा करने के बाद चीजों को अच्छी तरह से अध्ययन किया जा सकता था और उनपर वाद-विवाद किया जा सकता है। इस समझदारी के चलते ज्ञापन, टिप्पणी और प्रतिवेदन पर आधारित शासन की संस्कृति पैदा होती है।

अंग्रेजों ने दस्तावेजों को सुरक्षित रखने के लिए प्रत्येक शासकीय संस्थानों में अभिलेख कक्ष बनवा दिए। तहसील के दफ्तर, कलेक्टरेट, कमिश्नर के दफ्तर, प्रान्तीय सचिवालय, कचहरी सबके अपने रिकार्ड रूम होते थे।

महत्त्वपूर्ण दस्तावेजों को बचाकर रखने के लिए अभिलेखागार और संग्रहालय जैसे संस्थान भी बनाए गए।

7 क्या भारतीय इतिहास के मध्य काल को एक ही धर्म का दौर कहना उचित होगा?
उत्तर-भारतीय इतिहास के मध्य काल को एक ही धर्म का दौर कहना उचित होगा क्योंकि मध्य काल में सल्तनत काल एवं मुगल काल आते हैं। दोनों का एक ही धर्म इस्लाम था। वे इस्लाम धर्म के समर्थक एवं पोषक थे।

Ncert Solution For Class 8th आधुनिक काल में भारत का इतिहास अति लघु उत्तरीय प्रश्न