लोकतंत्र क्या लोकतंत्र क्यों पाठ 2 लघु उतरीय प्रश्न। Ncert Solution For Class 9th Civics

0

लोकतंत्र क्या ? लोकतंत्र क्यों ? पाठ 2 लघु उतरीय प्रश्न, Ncert Solution For Class 9th Civics के इस ब्लॉग पोस्ट में आप सभी विद्यार्थियों का स्वागत है, इस पोस्ट के माध्यम से पाठ से जुड़े उन सभी महत्वपूर्ण परीक्षा उपयोगी प्रश्न जो कि कई बार पिछले परीक्षाओं में पूछे जा चुके हैं, उन सभी प्रश्नों को इस पोस्ट पर कवर किया गया है , इसलिए इस पोस्ट को कृपया करके पूरा ध्यान से पढ़ें और पूरा पढ़ें ताकि आपकी परीक्षा की तैयारी और भी अच्छी हो सके-

लोकतंत्र क्या लोकतंत्र क्यों पाठ 2 लघु उतरीय प्रश्न के उत्तर Ncert Solution

लोकतंत्र क्या लोकतंत्र क्यों पाठ 2 अति लघु उतरीय प्रश्न के उत्तर
लोकतंत्र क्या लोकतंत्र क्यों पाठ 2 लघु उतरीय प्रश्न के उत्तर
लोकतंत्र क्या लोकतंत्र क्यों पाठ 2 दीर्घ उतरीय प्रश्न के उत्तर

1 लोकतंत्र में किसी तरह के चुनावों को कराना पर्याप्त है। यह कथन किस सीमा तक सही है ?
उत्तर-(क) किसी तरह का चुनाव कराना पर्याप्त नहीं है। राजनैतिक विकल्पों के बीच एक वास्तविक चुनाव का अवसर दिया जाना आवश्यक है। लोगों के लिए विद्यमान शासन यदि अयोग्य है तो उसको पदच्युत करने के लिए इस विकल्प का प्रयोग करना संभव रहना चाहिए।

(ख) एक लोकतंत्र और न्यायपूर्ण चुनाव पर आधारित रहना आवश्यक है। एक ऐसा चुनाव जिनमें सत्ताधारी प्रतिनिधियों को अपने हार जाने की आशंका रहे।

2 लोकतंत्र के क्या दोष हैं ?
उत्तर-(क) लोकतंत्र में नेता तथा दल बदलते रहते हैं। इसके कारण अस्थिरता की स्थिति बनी रहती है।
(ख) लोकतंत्र राजनैतिक स्पर्धा और शक्ति का प्रदर्शन मात्र है। इसमें नैतिक आचरण के लिए कोई स्थान नहीं है।
(ग) लोकतंत्र में परामर्श इतने अधिक लोगों से लिए जाते हैं कि इसके कारण संबंधित कार्यों में बहुत विलम्ब हो जाता है।
(घ) चुने गए नेता जनहित को पूर्णतः नहीं समझ पाते हैं अंततः इसमें सही निर्णय लेने के अवसर कम रहते हैं।
(ङ) लोकतंत्र चुनावी स्पर्धा पर आधारित रहने से भ्रष्टाचार की प्रवृत्ति बढ़ जाती
(च) लोकतंत्र में कई बार जनहित के फैसले भी लागू नहीं कराए जा सकते।

3 लोकतंत्र को सरकार का श्रेष्ठ स्वरूप क्यों माना जाता है ?
उत्तर-(क) लोगों की माँगों पर अनुक्रिया को दृष्टि से लोकतंत्र किसी अन्य व्यवस्था
इच्छाओं को समझ की तुलना में बेहतर है। लोकतांत्रिक सरकार जन सकती है और उचित प्रतिक्रिया भी कर सकती है लेकिन सत्ताधारी लोगों की इच्छाओं पर ही यह सब निर्भर करता है।
(ख) यदि शासक नहीं चाहते हैं तो वे लोगों की इच्छा के अनुसार कार्य नहीं करते हैं।
(ग) लोकतंत्र में जनता की आवश्यकताओं को पूरा करना सत्ताधारी दल के लिए आवश्यक हो जाता है। लोकतांत्रिक सरकार इस अर्थ में एक बेहतर सरकार है कि यह सरकार का अधिक उत्तरदायी स्वरूप है।

4 “मत देने का अधिकार केवल एक अधिकार ही नहीं, बल्कि एक कर्तव्य भी है। टिप्पणी लिखें।
उत्तर-कुछ मतदाता उदासीन होते हैं और अपना मत देने में रुचि नहीं लेते। चुनावों में भाग न लेना किसी लोकतंत्र के स्वास्थ्य के लिए अच्छा नहीं होता। हमें याद रखना चाहिए कि मत देने का अधिकार केवल एक अधिकार ही नहीं, बल्कि एक कर्तव्य भी है।

यह कर्तव्य ईमानदारी से निभाने की आवश्यकता है। मतदाताओं को निर्वाचित पदों के लिए सर्वोत्तम पुरुषों या महिलाओं को चुनना चाहिए। यदि उनके विचार संकीर्ण हों और वे जाति या समुदाय के नारों से प्रभावित हो जाएँ तो अपनी खराब पसंद के दुष्परिणाम स्वयं उन्हें ही भुगतने पड़ते हैं।

लोकतंत्र क्या लोकतंत्र क्यों पाठ 2 Ncert Solution And Notes

5 ‘चुनाव लोकतंत्र का मापन-यंत्र है। स्पष्ट करें।
उत्तर-निर्वाचन जनता का समर्थन पाने के लिए विभिन्न राजनीतिक दलों के मध्य होनेवाली प्रतियोगिता है। चुनाव लोकतंत्र का मापक यंत्र है और राजनीतिक दल तथा चुनाव में भाग लेनेवाले प्रत्याशीगण निर्वाचन की जीवन-रेखा हैं।

निर्वाचन से मतदाताओं को महसूस होता है कि वे ही देश के मालिक हैं क्योंकि मतदाता ही जिस व्यक्ति को निर्वाचित करते हैं वह राज्य, केन्द्र तथा स्थानीय स्तर पर सरकार का निर्माण करता है। लोकतंत्र में एक नियत अवधि के बाद चुनाव होना आवश्यक है।

चुनाव के द्वारा ही सरकार को शासन चलाने की शक्ति प्राप्त होती है। चुनाव ही जनता को यह अवसर प्रदान करता है कि वह अपने प्रतिनिधियों के कार्यों का मूल्यांकन करे। चुनाव राजनीति की नयी प्रवृत्तियों का जन्म देता है

जिनसे देश का भविष्य-पथ निर्मित होता है। चुनाव के समय मतदाताओ को देश की सामाजिक-आर्थिक परिवेश का मूल्यांकन करने का अवसर प्राप्त होता है। इस प्रकार चुनाव एक ऐसा परिदृश्य प्रस्तुत करता है जहाँ मतदाताओं को स्वतंत्र, निष्पक्ष तथा पारदर्शी ढंग से मतदान करना महत्त्वपूर्ण हो जाता है।Jac Board

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here