लोकतंत्र और विविधता पाठ 3 लघु उत्तरीय प्रश्न l Ncert Solution For Class 10th Civics

0

लोकतंत्र और विविधता पाठ 3 लघु उत्तरीय प्रश्न l Ncert Solution For Class 10th के अंतर्गत इस पाठ से संबंधित जितने भी परीक्षा उपयोगी लघु उत्तरीय प्रश्न पाठ्य पुस्तक पर दिए गए हैं उन सभी प्रश्नों को इस पोस्ट पर कवर किया गया है, जो पिछले कई परीक्षाओं में इस प्रकार का प्रश्न पूछे जा चुके हैं, इसलिए इस पोस्ट को जरूर करें ताकि उन सभी प्रश्नों का जवाब आपको आसानी से मिल सके और आपकी परीक्षा की तैयारी भी अच्छी हो सके।

लोकतंत्र और विविधता पाठ 3 दीर्घ उत्तरीय प्रश्न के उत्तर Ncert solution

लोकतंत्र और विविधता पाठ 3 दीर्घ उतरीय प्रश्न के उत्तर
लोकतंत्र और विविधता पाठ 3 लघु उतरीय प्रश्न के उत्तर
लोकतंत्र और विविधता पाठ 3 अति लघु उतरीय प्रश्न के उत्तर
1 सामाजिक अंतर कब और कैसे सामाजिक विभाजनों का रूप ले लेते हैं ?
उत्तर-(क) साधारणतः सामाजिक विभिन्नताएँ जन्म, रंग, लिंग, भाषाओं, धर्मों तथा सांस्कृतियों पर आधारित होती है।
(ख) जब एक सामाजिक अंतर, दूसरे अन्य अंतरों से ऊपर और बड़ा हो जाता है तो वह सामाजिक विभाजन का रूप ले लेता है।
(ग) अमेरिका जैसे देश में काले तथा गोरे नागरिकों के बीच अनेक अंतर हैं जैसे काले लोग आमतौर पर गरीब हैं, बेघर हैं तथा सामाजिक उत्पीड़न के शिकार हैं।
(घ) इन सभी अंतरों में नस्लीय भेदभाव सबसे बड़ा अंतर है। अतः नस्लीय भेदभाव ने अमेरिका में सामाजिक विभाजन का रूप ले लिया।
(ङ) जब एक तरह का सामाजिक अंतर अन्य अंतरों से ज्यादा महत्त्वपूर्ण हो जाता है तथा लोगों को यह महसूस होने लगता है कि वे दूसरे समुदाय के हैं तो इससे एक सामाजिक विभाजन की स्थिति पैदा होती है।
2 1968 में मैक्सिकों ओलम्पिक खेलों में कौन-सी घटना घटी?
उत्तर-1968 में मैक्सिकों में होने वाली ओलम्पिक खेलों में 200 मीटर की दौड़ में दो एफ्रो-अमेरिकी धावकों टामी स्मिथ और जॉन कार्लोस ने क्रमशः स्वर्ण और कांस्य पदक जीते। परन्तु उन्होंने पदक समारोह में पदक लेते समय अमेरिका की रंगभेद की नीति का अपने ही ढंग से विरोध किया।
उन्होंने बिना जूते पहने हुए, सिर्फ मोजे चढाए हुए पुरस्कार लेकर यह जताने का यत्न किया कि अश्वेत अमेरिकी लोग गरीब हैं। राष्ट्रगान बजते समय सिर झुकाए हुए और मुट्ठी ताने हुए खड़े रहने का तात्पर्य था कि वे असहाय हैं परन्तु वे अपना संघर्ष जारी रखेंगे।
काले दस्ताने और बन्धी हुए मुट्ठियों अश्वेत शक्ति का प्रतीक थी। स्मिथ ने अपने गले में एक काला मफलर पहन रखा था और कार्लोस ने अपने गले में काले मनकों की माला पहनी हुई थी जो विरोध के साथ-साथ एफ्रो-अमेरिकन लोगों के आत्म गौरव को प्रदर्शित करते थे।
इन प्रतीकों और तौर-तरीकों से उन्होंने अमेरिका में होने वाले रंगभेद के प्रति अन्तर्राष्ट्रीय बिरादरी का ध्यान खींचने का प्रयत्न किया |
3 क्या सभी सामाजिक अन्तर सामाजिक विभाजन में बदल जाते हैं ?
उत्तर-नहीं, हर एक सामाजिक अन्तर सामाजिक विभाजन में तबदील नहीं होता। जैसे एक ही राजनीतिक दल में विभिन्न धर्मों और जातियों के लोग होते हैं परन्तु एक ही उद्देश्यों या नीतियों से प्रेरित होकर वे एक साथ मिलकर रहते हैं और इकट्ठे मिलकर खाते-पीते हैं एक साथ यात्रा करते हैं।
परन्तु यदि एक ही पार्टी के सदस्य अन्दर ही अन्दर एक दूसरे की बात काटने लगें. एक-दूसरे के हितों को ठेस पहुँचाना शुरू कर दें, चुनावों में अन्दर ही अन्दर से दूसरी पार्टी के उम्मीदवारों की सहायता करने लगें तो ऐसे में सामाजिक अन्तर सामाजिक विभाजन में बदल जाते हैं।
सद-व्यवहार, सह-विचार, ईमानदारी और वफादारी से कई बार सामाजिक विभाजन भी भाईचारे और प्रेम में बदल जाते हैं। स्मिथ और कार्लोस एफ्रो-अमेरिका के रहने वाले थे और उधर नार्मन श्वेत जाति से थे और रहने वाले भी वह किसी अन्य देश आस्ट्रेलिया के थे परन्तु फिर भी उसने अश्वेत लोगों का साथ दिया क्योंकि उनके साथ अन्याय हो रहा था।
इस प्रकार सामाजिक अन्तर तो हर समाज में रहेंगे परन्तु हमें अपनी मूर्खता, कठोरता, अन्यायपूर्ण व्यवहार से उन्हें सामाजिक विभाजन में बदल नहीं लेना चाहिए।
4 ‘हर सामाजिक विभिन्नता सामाजिक विभाजन का रूप नहीं लेती। एक उदाहरण लिखें।
उत्तर-हर सामाजिक विभिन्नता सामाजिक विभाजन का रूप नहीं लेती। सामाजिक विभिन्नताएँ लोगों के बीच बँटवारे का एक बड़ा कारण होती जरूर है लेकिन यही विभिन्नताएँ कई बार अलग-अलग तरह के लोगों के बीच पुल का काम भी करती है। विभिन्न सामाजिक समूहों के लोग अपने समूहों की सीमाओं से परे भी समानताओं का अनुभव करते हैं।
उदाहरण- 1968 ई० के मैक्सिको ओलंपिक में जब दो अश्वेत खिलाड़ियों ने रंगभेद के खिलाफ असंतोष व्यक्त किया तो एक गैर-अश्वेत खिलाड़ी नार्मन ने भी उनका साथ दिया। इस प्रकार हम देखते हैं कि सामाजिक भिन्नता के बावजूद अश्वेत और गैर-अश्वेत दोनों ने रंगभेद की नीति का विरोध किया। यहाँ सामाजिक भिन्नता सामाजिक विभाजन का रूप नहीं ले सकी।
5 जहाँ सामाजिक अंतर एक-दूसरे से टकराते हैं, वहाँ सामाजिक विभाजन होता है। व्याख्या करें।
उत्तर-(क) सामाजिक अंतर सामाजिक विभाजन को जन्म देता है। परन्तु यह आवश्यक नहीं कि प्रत्येक सामाजिक अंतर सामाजिक विभाजन का अंतर बने।
(ख) सामाजिक विभाजन तब होता है जब कुछ सामाजिक अंतर दूसरी अनेक विभिन्नताओं से ऊपर तथा बड़ी हो जाए।
(ग) भारत में दलित गरीब और भूमिहीन हैं, उन्हें अक्सर भेदभाव और अन्याय का शिकार होना पड़ता है। उन्हें लगता है कि वे दूसरे समुदाय के हैं तथा उनके एवं शेष समाज के बीच बड़ा सामाजिक अंतर है।
(घ) जब लोगों का यह महसूस होने लगता है कि वे दूसरे समुदाय के हैं तथा दूसरे समूह से टकराव की स्थिति आ जाती है तो यही सामाजिक अंतर सामाजिक विभाजन का रूप ले लेता है।
6 सिर्फ भारत जैसे बड़े देशों में सामाजिक विभाजन होते हैं। व्याख्या करें।
उत्तर-(क) भारतीय समाज समरूप समाज नहीं है अर्थात् समाज में विभिन्न धर्मों, संस्कृतियों, भाषाओं आदि के लोगों का अस्तित्व है।
(ख) प्रत्येक समाज में सामाजिक विविधता पाई जाती है, लेकिन यह जरूरी नहीं है कि प्रत्येक सामाजिक विविधता, सामाजिक विभाजन का कारण बने।
(ग) विश्व के अधिकतर समाजों में सामाजिक विभाजन देखने को मिलता है, देश बड़ा हो या छोटा इससे खास फर्क नहीं पड़ता।
(घ) छोटे-बड़े किसी भी देश में, जहाँ धार्मिक विविधता सांस्कृतिक विविधता, भाषाई विविधता आदि का अस्तित्व हो वहाँ अगर इन विविधताओं को
युक्तिपरक तरीके ने नहीं संभाला जाता है तो सामाजिक विभाजन की संभावना प्रबल होती है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here