भारतीय अर्थव्यवस्था के क्षेत्रक पाठ 6 अति लघु उत्तरीय प्रश्न | Ncert Solution For Class 10th

0

भारतीय अर्थव्यवस्था के क्षेत्रक पाठ 6 अति लघु उत्तरीय प्रश्न | Ncert Solution For Class 10th के इस पोस्ट में आप सभी छात्रों का स्वागत है, इस लेशन में आज पाठ से संबंधित सभी महत्वपूर्ण अति लघु उत्तरीय प्रश्न तथा उनके उत्तर इस ब्लॉग पर विस्तार से कवर किया गया है, जो पिछले परीक्षाओं में भी इस तरह के सवाल पूछे जा चुके हैं , आप एक बार इस पोस्ट को पूरा पढ़ें ताकि जो भी महत्वपूर्ण प्रश्न के उत्तर इस ब्लॉग में हैं, हम सभी का उत्तर आपको मालूम हो सके और आपकी परीक्षा की तैयारी भी अच्छी हो सके तो चलिए शुरू करते हैं |

भारतीय अर्थव्यवस्था के क्षेत्रक पाठ 6 अति लघु उत्तरीय प्रश्न के उत्तर

भारतीय अर्थव्यवस्था के क्षेत्रक पाठ 6 अति दीर्घ उत्तरीय प्रश्न के उत्तर
भारतीय अर्थव्यवस्था के क्षेत्रक पाठ 6 लघु उत्तरीय प्रश्न के उत्तर
भारतीय अर्थव्यवस्था के क्षेत्रक पाठ 6 अति लघु उत्तरीय प्रश्न के उत्तर
1 प्राथमिक क्षेत्रक किसे कहते हैं ?
उत्तर-ऐसी गतिविधियों जहाँ प्रकृति द्वारा प्रदान की गई वस्तुओं को प्रयोग में लाया जाता है तो उन्हें हम प्राथमिक क्षेत्रक की गतिविधियाँ कहते हैं।
2 प्राथमिक क्षेत्रक से सम्बन्धित कुछ गतिविधियों के उदाहरण दें।
उत्तर-खनन, लकड़ी काटना या लम्बरिंग और मत्स्य ग्रहण आदि कुछ ऐसी प्राथमिक क्षेत्रक की गतिविधियाँ हैं।
3 द्वितीय क्षेत्रक से क्या तात्पर्य है?
उत्तर-ऐसी गतिविधियों जो कच्चा माल अथवा प्राथमिक उत्पादों को उपयोगी वस्तुओं में बदल देती हैं उन्हें द्वितीयक क्षेत्रक की गतिविधियों कहा जाता है।
4 द्वितीयक क्षेत्रक से सम्बन्धित कुछ गतिविधियों के उदाहरण दें।
उत्तर-चीनी, कागज बनाना, कपड़ा तैयार करना आदि कुछ द्वितीयक क्षेत्रक के उदाहरण हैं।
5 तृतीयक क्षेत्रक किसे कहते हैं ?
उत्तर-तृतीयक क्षेत्रक का सम्बन्ध वस्तुओं के उत्पादन से नहीं होता वरन् सेवाओं के निर्माण से होता है।
6 तृतीयक क्षेत्रक के कुछ उदाहरण दें।
उत्तर-वकालत, डाक्टरी, बैंक, यातायात एवं संचार आदि कुछ तृतीयक क्षेत्रक गतिविधियों के उदाहरण हैं।
7 सकल घरेलू उत्पाद से क्या तात्पर्य है ?
उत्तर-तीनों क्षेत्रकों (प्राथमिक, द्वितीय और तृतीयक) के उत्पादों के योगफल को देश का सकल घरेलू उत्पाद कहा जाता है।
8 कृषि क्षेत्रक में अल्प-बेरोजगारी क्यों है?
उत्तर-क्योंकि कृषि क्षेत्रक में अभी भी आवश्यकता से अधिक लोग लगे हुए हैं। इसलिए वहाँ श्रमिकों में अल्प-बेरोजगारी विद्यमान है।
9 प्रच्छन्न बेरोजगारी किसे कहते हैं ?
उत्तर-जब एक विशेष कार्य को करने के लिए आवश्यकता से अधिक लोग काम करते हैं तो उनकी पूरी रोटी नहीं चलती, ऐसे में वह जिस बेरोजगारी का शिकार होते हैं उसे अल्प-बेरोजगारी या प्रच्छन्न बेरोजगारी कहते हैं।
10 राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी अधिनियम, 2005 (एन० आर० ई० जी० ए०) को काम का अधिकार क्यों कहा गया है ?
उत्तर-राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी अधिनियम, 2005 को ‘काम का अधिकार’ इसलिए कहा गया है क्योंकि, राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी अधिनियम 2005 प्रतिवर्ष प्रत्येक ग्रामीण परिवार को 100 दिनों का रोजगार सुनिश्चित करता है। यदि किसी आवेदक को 15 दिनों के भीतर रोजगार प्रदान नहीं किया जाता है तो वह दैनिक रोजगार भत्ता का अधिकारी होगा। इस कानून के अन्तर्गत प्रस्तावित रोजगार का एक-तिहाई भाग महिलाओं के लिए आरक्षित होगा।

भारतीय अर्थव्यवस्था के क्षेत्रक पाठ 6 Ncert Solution

11 संगठित क्षेत्रक किसे कहते हैं ?
उत्तर-संगठित क्षेत्रक वह होता है जहाँ नौकरी की शर्ते निश्चित होती हैं, काम करने के घण्टे निश्चित होते हैं, भविष्य निधि और अन्य भत्ते भी मिलते हैं, और रविवार की छुट्टी भी रहती है।
12 असंगठित क्षेत्रक किसे कहते हैं ?
उत्तर-असंगठित क्षेत्रक वह होता है जहाँ नौकरी की शर्ते नियमित नहीं होती। भविष्य निधि तथा अन्य भत्ते नहीं मिलते और जहाँ पेंशन आदि की भी कोई व्यवस्था नहीं होती।
13 सार्वजनिक क्षेत्रक किसे कहते हैं ?
उत्तर-जिन क्षेत्रक की अधिकांश परिसम्पत्तियों पर सरकार का नियन्त्रण होता है उन्हें सार्वजनिक क्षेत्रक कहते हैं।
14 निजी क्षेत्रक किसे कहते हैं ?
उत्तर-जिन क्षेत्रकों की परिसम्पत्तियाँ एवं सेवाएँ किसी विशेष व्यक्ति या कम्पनी के हाथों में होती है. ऐसे क्षेत्रकों को निजी क्षेत्रक कहा जाता है।
15 निजी क्षेत्रक के उदाहरण दें।
उत्तर-टाटा आयरन एण्ड स्टील कम्पनी लिमिटेड एवं रिलायंस इण्डस्ट्रीज लिमिटेड आदि कुछ निजी क्षेत्रक के उदाहरण हैं।
16 बेरोजगारी क्या होती है ?
उत्तर-साधारण भाषा में ऐसे व्यक्ति जो किसी उत्पादक गतिविधि में नहीं लगे हैं बेरोजगार कहलाते हैं। ऐसी स्थिति को बेरोजगारी कहते हैं।
17 मौसमी बेरोजगारी से क्या अभिप्राय है ?
उत्तर-किसान या व्यक्ति किसी एक निश्चित अवधि में काम करने के बाद बेरोजगार हो जाते हैं मौसमी बेरोजगारी कहलाती है। यह बेरोजगारी अधिकतर कृषि क्षेत्र में पाई जाती है।
18 बेरोजगारी का सबसे व्यापक रूप कौन-सा है ?
उत्तर-बेरोजगारी का सबसे व्यापक रूप छिपी हुई बेरोजगारी है। क्योंकि व्यक्ति काम करता हुआ तो दिखाई देता है लेकिन वास्तविकता में वह बेरोजगार होता है। ग्रामीण क्षेत्रों में इस तरह की बेरोजगारी काफी अधिक देखने को मिलती है।

भारतीय अर्थव्यवस्था के क्षेत्रक पाठ 6 Ncert Notes

19 जनसंख्या वृद्धि किस प्रकार बेरोजगारी को जन्म देती है ?
उत्तर-रोजगार अवसरों की तुलना में जनसंख्या में अधिक दर से वृद्धि होती है। इस प्रकार जनसंख्या में अधिक दर से होने वाली वृद्धि, बेरोजगारी का कारण बनती है। इसलिए बेरोजगारी दूर करने के लिए जनसंख्या पर नियंत्रण आवश्यक है।
20 स्थानीय बैंक कृषकों को कैसे सहायता कर सकते हैं ?
उत्तर-(क) वे उन्हें सस्ते दामों पर ऋण देकर उनकी सहायता कर सकते हैं।
(ख) वे नौकरशाही के उलझनों से उन्हें बचा सकते हैं।
21 बेराजगारी को कम करने में पर्यटन से क्या सहायता मिल सकती है?
उत्तर-योजना आयोग के अध्ययन के अनुसार यदि पर्यटन क्षेत्रक में सुधार होता है तो कोई 35 लाख से अधिक लोगों को अतिरिक्त रोजगार प्राप्त हो सकता है।
22 ग्रामीण क्षेत्रों में असंगठित क्षेत्रक में कौन-कौन से लोग मुख्य रूप से आते हैं?
उत्तर-भूमिहीन कृषि श्रमिक, छोटे और सीमांत किसान, फसल कटाईदार, बुनकर, लोहार, बढ़ई आदि।
23 शहरी क्षेत्रों में असंगठित क्षेत्रक में कौन-से लाचार लोग शामिल हैं ?
उत्तर-लघु उद्योगों के श्रमिक, निर्माण, व्यापार और परिवहन में लगे आकस्मिक श्रमिक, सड़क पर घूमने वाले फेरीवाले, सिर पर बोझ उठाने वाले श्रमिक आदि।ncert

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here